देश में 30 से ज्यादा कोरोना वैक्सीन ट्रायल स्टेज पर, पीएम ने वैज्ञानिकों के प्रयास को सराहा

नईदिल्ली,  कोरोना वायरस से जूझ रही दुनिया अबतक कोरोना वायरस का वैक्सीन नहीं बना पाई है. इसी बीच एक अच्छी खबर आई है कि भारत में 30 से अधिक वैक्सीन विकास के विभिन्न चरणों में हैं और इनमें कुछ ट्रायल के लिए तैयार हैं ।

यह जानकारी देश के विशेषज्ञों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दी है । बता दें कि पीएम मोदी ने कोरोना वायरस टीका विकास पर मंगलवार को एक कार्यबल की बैठक की अध्यक्षता की थी जिसमें उन्हें यह जानकारी दी गई, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस का टीका विकसित करने, औषधि खोज, रोग-निदान और परीक्षण में भारत के प्रयासों की मौजूदा स्थिति की मंगलवार को समीक्षा की ।

आधिकारिक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री द्वारा की गई समीक्षा में शैक्षिक समुदाय, उद्योग और सरकार के असाधारण रूप से साथ आने का संज्ञान लिया गया। पीएम मोदी ने महसूस किया कि इस तरह का समन्वय और गति मानक संचालन प्रक्रिया में सन्निहित होनी चाहिए।

बयान में कहा गया, ‘उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि संकट में जो संभव है, वह वैज्ञानिक कार्यप्रणाली की हमारी नियमित शैली का हिस्सा होना चाहिए।’ बैठक में यह बताया गया कि 30 से भी अधिक भारतीय वैक्सीन पर काम किया जा रहा है और इनमें से कुछ का ट्रायल किया जायेगा ।

इसी तरह दवा की श्रेणी में भी चार तरह की दवाओं पर काम किया जा रहा है। इसके अलावा पौधों के अवशेषों और कुछ उत्पादों की भी वायरस विरोधी गुणों के लिए जांच की जा रही है।  समीक्षा के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि यह उल्लेखनीय है कि एकेडमिया, उद्योग और सरकार एकजुट होकर तेजी और दक्षता के साथ काम कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने दवा की खोज के लिए  कंप्यूटर साइंस , रसायन विज्ञान और जैव प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में मिलकर किये जा रहे कार्य की सराहना करते हुए सुझाव दिया कि इस बारे में एक हैकाथन आयोजित किया जाना चाहिए । इसमें सफल उम्मीदवारों को स्टार्टअप कंपनियों द्वारा दवा कि विकास कायोर्ं में लगाया जाना चाहिए ।प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जिस तरह से भारतीय वैज्ञानिक और उद्योग इस मामले में आगे आए हैं, वह सराहनीय है ।

 

 

National Chhattisgarh  Madhyapradesh  से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *