‘मयखाने’ 40 दिन बाद गुलजार, छग में भी पीकर खूब झूमे मदिरा प्रेमी

रायपुर, देश में में 40 दिनों बाद मयखाने खूब गुलजार हुए, मदिरा प्रेमियों को शराब दुकानें (मयखाने) खुलने का कितना इंतजार था, इसका नजारा पहले ही दिन दिख गया, जहां प्रदेश के कई हिस्सों में शराब की दुकानों पर बड़ी तादात में मदिरा प्रेमी पहुंचे. कई जगह जो लोगों ने सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया लेकिन कई जगहें ऐसी भी थीं जहां लोग खुलेआम इसकी धज्जियां उड़ाते दिख रहे थे.

आपको बता दें कि आज से केंद्र सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक शराब की बिक्री शुरू कर दी गई है, देश के तमाम हिस्सों में लगातार शराब की दुकानों (मयखाने) के सामने भीड़ के वीडियो और फोटो सामने आते रहे. इस दौरान कई जगह तो दो-दो किलोमीटर से भी ज्यादा लंबी लाइऩ लगी रही.

sharabi
‘मयखाने’ 40 दिन बाद गुलजार, छग में भी पीकर खूब झूमे मदिरा प्रेमी

कुछ जगह मदिरा प्रेमियों का उतावलापन भी नजर आया जहां भीड़ बढ़ता देख पुलिस ने दुकानों को ही बंद करा दिया, छत्तीसगढ़ में भी छोटे-बड़े शहरों सहित ग्रामीणांचल में भी शराब की दुकानें दिखीं जहां सुबह से ही लोगों की लंबी-लंबी कतारें नजर आईं. हैरानी वाली बात यह है कि इनमें कई लोग ऐसे भी रहे होंगे. जिनके घर का चूल्हा सरकारी राशन या फिर समाज सेवियों द्वारा दान किए गए सामान से जल रहा होगा. लेकिन शराब के लिए लोगों की हैरान करने वाली है.

हालांकि छत्तीसगढ़ में शराब की दुकानें खोले जाने को लेकर विरोधियों ने कांग्रेस की भूपेश सरकार पर बड़ा हमला बोला है, विरोधियों का कहना है कि शराब बंदी की बातें करने वाली कांग्रेस सरकार ने एक अच्छा मौका गंवा दिया जब शराब बंदी की जा सकती थी. क्योंकि 40 दिन से ज्यादा का वक्त हो गया, लोगों की शराब पीने की आदत भी छूट चुकी थी, ऐसे में अगर शराब बंद करने का सरकार के पास अच्छा मौका था, लेकिन उसने यह मौका भी गंवा दिया.

National Chhattisgarh  Madhyapradesh  से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *