कोरोना प्रबंधन मेडिकल काॅलेज और जिला चिकित्सालयों में हुए 8.69 करोड़ के कार्य

रायपुर, प्रदेश में लाॅकडाउन के दौरान कोरोना महामारी के नियंत्रण एवं बचाव कार्य के तहत लोक निर्माण विभाग द्वारा विभागीय मद से 8 करोड़ 69 लाख रूपए के विभिन्न कार्य किए गए। लोक निर्माण मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने बताया कि रायपुर मेडिकल काॅलेज सह अस्पताल और जिला चिकित्सालय में कोरोना वार्ड में विद्युतीकरण, एयर कंडीशनर, गैस पाईप लाइन, जनरेटर एवं सीसीटीव्ही कार्य पर 6 करोड़ 38 लाख रूपए और मातृ एवं शिशु अस्पताल रायगढ़ में गैस पाईप लाइन कार्य पर एक करोड़ 60 लाख रूपए व्यय किया गया।

कोरोना प्रबंधन के तहत बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर हाॅस्पिटल में कोरोना वार्ड में वायरिंग, एयर कंडीशनर, कूलर एवं सीसीटीव्ही कार्य पर 25 लाख रूपए, मेडिकल काॅलेज जगदलपुर में कोरोना वार्ड के लिए एसीपी से पार्टिशन कार्य पर 20 लाख रूपए, बैकुंठपुर जिला अस्पताल और बैकुंठपुर, मनेन्द्रगढ़ एवं चिरमिरी के क्वारंटाईन सेंटर में विद्युतीकरण, एयर कंडीशनर एवं सीसीटीव्ही कार्य पर 21 लाख रूपए और अम्बिकापुर मेडिकल काॅलेज हाॅस्पिटल (जिला अस्पताल) के कोरोना वार्ड रंगाई-पुताई पर 5 लाख रूपए विभागीय मद से व्यय किए गए।

मास्क, सैनेटाइज बना रहे हैं महिलाओं के समूह

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलाव से रोकने के लिए संपूर्ण देश में लाॅकडाउन किया गया है। इस दौरान बन्द दरवाजों के पीछे जहाँ पूरा देश खुद को सुरक्षित पा रहा था वही डॉक्टरों, स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस और प्रशासनिक कर्मचारियों के साथ महिला स्वसहायता समूहों की महिलाएं भी कंधा से कंधा मिलाकर काम कर रहीं हैं। जहां शासन-प्रशासन लोगों के स्वास्थ्य, पोषण और रक्षा का ख्याल रख रहा है वहीं ग्रामीण महिलाओं के स्वसहायता समूह इस समय ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूत नींव बन कर इन्हें गिरने से बचा रहीं है।

एक ओर ये वनोपज की खरीदी करती नजर आतीं हैं तो कहीं ये कोरोना से लड़ने मास्क और सेनेटाइजर बनाती नजर आती हैं कही ये बैंक सखी के रूप में ग्रामीणों को नगद पहुंचाती हैं कही ये गरम भोजन तैयार कर लोगो को क्षुदा पूर्ति कराती हैं। इस विपदा काल मे महिला समूहों ने ना केवल नारी शक्ति का प्रदर्शन किया अपितु नए रोजगार के अवसरों से खुद को जोड़ कर अपने आसपास की महिलाओं को भी इससे जोड़ा है।

 

National Chhattisgarh  Madhyapradesh  से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *