Corona virus: अकेले मुंबई में 15 मई तक 75 हजार हो जाएंगे मरीज ?

मुंबई,  देश में  कोरोना वायरस(Corona virus) के संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित मुंबई की मुश्किलें आने वाले दिनों में और बढ़ती हुई दिखाई दे रही हैं, केंद्र सरकार की असेसमेंट टीम ने अकेले मुंबई में 15 मई तक 75,000 हजार केसों का अनुमान लगाया है । अगर इस लिहाज से देखा जाए तो आने वाले महीना मुंबई के लिए काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है ।

बीएमसी ने कसी कमर

इधर कोरोना वायरस (Corona virus) से निपटने के लिए बीएमसी ने इससे निपटने के लिए तीन आक्रामक योजना बनाई हैं । इसके मुताबिक, कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग पर जोर दिया जाएगा, बिना लक्षण वालों में मरीजों के लिए अधिक कोविड-19 केयर सेंटर  के साथ प्राइवेट और पब्लिक अस्पतालों की क्षमता बढ़ाई जाएगी ।

63 हजार बिना लक्षण वाले मरीज होंगे

वर्तमान में मुंबई में पिछले सात दिन में मुंबई में कोरोना के मामलों के दोगुने होने की दर सात दिन है। इस महीने की शुरुआत में यह दर 3.1 दिन थी जबकि पूरे देश में कोरोना वायरस (Corona virus) मामलों के दोगुने होने की दर 9.1 दिन है। कोरोना मामलों के दोगुने होने की दर पर आधारित केंद्रीय टीम के अनुमान के अनुसार, 75,000 मामलों में से 63 हजार मामले बिना लक्षण वाले होंगे जबकि 12 हजार मामलों में ही लक्षण देखने को मिलेंगे।

कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और सर्विलांस जरूरी

कोरोना मामलों की दोगुनी दर 10 दिन होनी चाहिए। मनीषा ने बताया, ‘यह जरूरी है कि मामलों के दोगुनी होने की दर 4 से 5 दिन पर न पहुंच जाए। इसके लिए अनिवार्य रूप से कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और सर्विलांस मददगार हो सकता है।’ बीएमसी में अस्पताल संबंधी मामलों को व्यवस्थित करने के लिए विशेष प्रतिनियुक्ति की प्रमुख सचिव मनीषा म्हयेस्कर ने बताया कि बीएमसी के पास पहली चुनौती दोगुनी होने की दर को सुधारना है।

 

National Chhattisgarh  Madhyapradesh  से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *