Uttar Ramayana: जब जंगल में पेड़ के नीचे कुछ इस तरह बैठ गए ‘सीता-राम’, देखते रह गए ‘लक्ष्मण-भरत-शत्रुहन’ !

नईदिल्ली, रावण वध के बाद अब उत्तर रामायण(Uttar Ramayana) में अब लव-कुश कांड दिखाया जा रहा है. जिसमें एक तरफ सीता के बिछड़ने पर राम दुखी हैं तो दूसरी तरफ लव-कुश अपना पराक्रम दिखाएंगे. इसको लेकर भी लोगों के मन में उत्सुकता है.

रामानंद सागर नहीं बनाना चाहते थे ‘लव कुश कांड’ (Uttar Ramayana)

वैसे रामायण के दोबारा दिखाए जाने के बाद वे किस्से, जिनसे लोग अबतक अंजान थे वे भी खूब सामने आ रहे हैं, इसको लेकर एक बात यह भी सामने आ रही है, कि रामानंद सागर लव कुश कांड बनाना ही नहीं चाहते थे. उनके बेटे प्रेम सागर ने एक इंटरव्यू में इसका खुलासा करते हुए कहा कि उनके पिता रामानंद सागर श्री राम के परम भक्त थे, इसलिए वे मानने को तैयार ही नहीं थे, कि एक धोबी के कहने से उनके राम, सीता का त्याग कर सकते हैं, इसलिए उन्होने दूरदर्शन वो कह दिया था, कि वे उत्तर रामायण नहीं बनाएंगे.

पूरा देश उस वक्त ‘लव कुश कांड’ (Uttar Ramayana) के बारे में जानना चाहता था, सभी के मन में उत्सुकता थी कि आगे क्या होगा, इधर जनता की अपेक्षाओं को देखते हुए, रामानांद सागर को पीएमओ से फोन आया, जिसके बाद रामानंद सागर उत्तर रामायण (Uttar Ramayana) बनाने के लिए तैयार हुए.

दीपिका चिखलिया ने शेयर की फोटो

90 के देशक में जैसा प्रेम लोगों का रामायण को लेकर उमड़ा था कुछ वैसा ही प्यार आज भी लोग रामायण को कर रहे हैं, उनके दिलो दिमाग में एक बार फिर उन्हें अरुण गोबिल और दीपिका चिखलिया में सीता-और राम की छबि दिखाई दे रही है, लेकिन ये वक्त सोशल मीडिया का है लिहाजा सब जानते के हैं कि असल जिंदगी में अरुण गोविल और दीपिका इंसान ही हैं, दीपिका चिखलिया भी इस वक्त सोशल मीडिया पर एक्टिव है, जिन्होने शूटिंग के वक्त की फोटो शेयर करते हुए लिखा है –

Behind the camera ….Smiling face with smiling eyes

 

National Chhattisgarh  Madhyapradesh  से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *