20 अप्रैल से ऑन लाइन शॉपिंग होगी शुरू, लेकिन हर किसी के लिए नहीं

नईदिल्ली, कोरोना वायरस से खौफ के बीच थोड़ी, आम लोगों को थोड़ी राहत 20 अप्रैल से मिल सकती है. दरअसल  ई-कॉमर्स कंपनियां हॉटस्पॉट के तहत न आने वाले उपभोक्ताओं को मोबाइल फोन से लेकर रेफ्रिजेटर जैसे कई दूसरे और जरूरी उत्पादों की आपूर्ति के लिए तैयार हैं।

ई-कॉमर्स कंपनियों के अलावा ब्रांड भी लॉकडाउन की अवधि के दौरान बढ़ी मांग को पूरा करने के लिए तैयार हैं। राष्ट्रव्यापी बंद को 3 मई तक बढ़ा दिया गया है। हालांकि, सरकार ने इसमें कुछ छूट देते हुए कहा है कि कुछ स्थानों पर कुछ गतिविधियों की अनुमति होगी ।

इस बारे में स्नैपडील के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी क्रेता-विक्रेताओं की जरूरत को पूरा करने के लिए अपने परिचालन को बढ़ाने की तैयारी कर रही है । उन्होने कहा, ”इस दौरान गर्मियों के कपड़ों, रसोई के सामान, छोटे उपकरणों मसलन हैंडसेट, स्कूल के काम के लिए टैबलेट, होम प्रिंटर, प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं की किताबों आदि की काफी मांग रहेगी।

उपभोक्ता मंत्रालय ऐसे आवश्यक सामान की सूची को अंतिम रूप दे रहा है, जिसे लॉकडाउन के बीच ई कॉमर्स कंपनियां उपभोक्ता के घर तक पहुंचा सकती है । फ्लिपकार्ट, अमेजन जैसी कंपनियां आवश्यक वस्तु मसलन, दाल, चावल, आटा, बिस्कुट और किराना को दूसरे जरूरी सामान की आपूर्ति कर रही हैं।

आपको बता दें कि दूसरे देशों के मुकाबले भले कम हों लेकिन देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, पिछले कुछ दिनों की बात करें तो हर दिन हजार से पंद्रह सौ नए केस सामने आ रहे हैं. यही वजह है कि देश में संक्रमित मरीजों की संख्या अब बढ़कर 13541 पहुंच चुकी है. जबकि 448 लोगों की इस बीमारी की वजह से मौत हो गई है.

 

National Chhattisgarh  Madhyapradesh  से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *