कोरोना संक्रमण की टेस्टिंग में आएगी तेजी, एंटीबॉडी रैपिड टेस्ट के लिए 67 इंडियन फर्म्स को मंजूरी

नई दिल्ली,   कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच भारत में कोरोना संक्रमण की टेस्टिंग में तेजी लाने के लिए केंद्र सरकार कोशिशें कर रही है. इस बीच 67 इंडियन फर्म्स को कोरोना संक्रमण के लिए एंटीबॉडी रैपिड टेस्टिंग किट की टेस्टिंग करने के लिए मंजूरी मिल गई है. इसके बाद उम्मीद की जा रही है कि कोरोना संक्रमण के मामलों का और भी तेजी से पता लगाया जा सकेगा ।

क्या है एंटीबॉडी रैपिड टेस्ट ?

सेंट्रल ड्रग स्टैंडर्ड कंट्रोलर ऑर्गेनाइजेशन (CDSCO) ने 67 इंडियन फर्म्स को एंटीबॉडी रैपिड टेस्टिंग के लिए मंजूरी दे दी है। इन 67 कंपनियों में से 5 कंपनियां इंडीजीनस (स्वदेशी) हैं जबकि बाकी की 62 कंपनियां एंटीबॉडी रैपिड टेस्टिंग किट का आयात चीन, ब्रिटेन, फ्रांस, साउथ कोरिया और इजरायल से कर रही हैं।

 

यह सस्ता होता है और इसके नतीजे जल्दी आ जाते हैं, जबकि रियल टाइम पीसीआर में काफी वक्त लगता है।  रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट किसी व्यक्ति में कोरोना वायरस से लड़ने वाली एंटीबॉडी बन रही हैं या नहीं, इसका पता लगाने का काम करता है। भारत में अभी रियल टाइम पीसीआर से ही टेस्टिंग होती है।

आपको बता दें कि रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट स्क्रीनिंग का सबके अच्छा तरीका है। रैपिड एंटीबॉडी टेस्टिंग से 15-20 मिनट में ही इसका नतीजा आ जाता है, जबकि रियल टाइम पीसीआर का नतीजा आने में 2-3 दिन लग जाते हैं ।

 

देश में अबतक कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 400 के पार

दूसरे देशों के मुकाबले भले कम हों लेकिन देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, पिछले कुछ दिनों की बात करें तो हर दिन हजार से पंद्रह सौ नए केस सामने आ रहे हैं. यही वजह है कि देश में संक्रमित मरीजों की संख्या अब बढ़कर 13541 पहुंच चुकी है. जबकि 448 लोगों की इस बीमारी की वजह से मौत हो गई है.

 

National Chhattisgarh  Madhyapradesh  से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *