कोरोना जांच के लिए पूल टेस्टिंग करेगी छग सरकार, जानिये क्या है पूल टेस्टिंग

रायपुर (FourthEyeNews), देश के साथ-साथ छत्तीसगढ़ में भी कोरोना वायरस के मरीज बढ़ते जा रहे हैं, हालांकि राहत की बात यह है कि नए मामलों में से करीब-करीब सभी मामले एक जिले के ही है, दूसरी जगहों से फिलहाल कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने नहीं आ रहे हैं.

फिलहाल छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 33 है लेकिन बावजूद इसके टेस्टिंग में तेजी लाने की जरूरत महसूस की जा रही है, लिहाजा छत्तीसगढ़ सरकार अब पूल टेस्टिंग से इसमें तेजी लाने की दिशा में काम कर रही है, जिसको लेकर स्वास्थ्यमंत्री टीएस सिंहदेव ने भी इसकी जरूरत बताई है.

ये भी पढ़ें कोरोना वायरस: बढ़ेगा टेस्टिंग का दायरा, ये रहा सरकार का मेगा प्लान

क्या है पूल टेस्टिंग ?

दरअसल पूल टेस्टिंग के जरिए एक साथ कई लोगों के सेंपल की जांच होगी, कई जगह पक एक साथ 10 लोगों के भी सेंपल की जांच करने की योजना होगी, इस जांच में कोरोनो पॉजिटिव पाए जाने के बाद, सभी दस मरीजों की जांच अलग-अलग दोबारा से कराई जाएगी, जबकि अगर ये जांच निगेटिव आती हैं, तो मान लिया जाएगा कि सभी दस मरीज कोरोना संक्रमित नहीं हैं.

हालांकि सरकार की ओर से फिलहाल एक सात पांच लोगों के पूल टेस्ट कराने की बात कही जा रही है, जिसके जरिये सरकार कोशिश कर रही है कि जांच में तेजी आए, जिससे कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज और उनके संपर्क में आए लोगों को जल्द से जल्द कोरंटाइन किया जा सके.

आपको बता दें कि अबतक छत्तीसगढ़ में 33 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए हैं, जिनमें से 13 लोग स्वस्थ भी हो चुके हैं, जबकि 20 एक्टिव केस इस वक्त छत्तीसगढ़ में हैं और यह सभी केस कोरबा के कटघोरा के हैं, जहां से 23 मरीज सामने आए हैं, ये सभी जमाती हैं, या फिर उनके संपर्क में आने वाले लोग हैं.

कटघोरा से एक साथ इतने के सामने आने के बाद इसे सीलबंद कर दिया गया है औऱ यहां के एक-एक शख्स पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *