Live – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन की बड़ी बातें, 3 मई तक बढ़ा लॉकडाउन

नईदिल्ली (FourthEyeNews), 21 दिन का लॉकडाउन खत्म होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया, उनके संबोधन की कुछ खास बातें हम आपको यहां बताने जा रहे हैं.

  • सभी देश वासियों की ओर से बाबा अंबेडकर को नमन करता हूं
  • ये भारत के त्योहारों का वक्त है
  • लॉकडाउन के इन बंधनों को बीच जिस तरह देश को लोग लॉकाडाउन का पालन कर रहे हैं, त्योहार सादगी पूर्ण तरीके से मना रहे हैं, ये सारी बातें बेहद प्रशंसनिय हैं.
  • मैं आपके और आपके परिवार के स्वास्थ की कामना करता हूं
  • कोरोना वैश्विक बीमारी है, दूसरे देशों के मुकाबले भारत ने जैसे अपने यहां संक्रमण रोकने के प्रयास किए. इसके आप साक्षी रहे हैं,
  • जब हमारे यहां एक भी प्रभावित नहीं था, तभी से हमने एयरपोर्ट पर विदेश से आने वाले हर यात्री की सक्रीनिंग शुरू कर दी थी.
  • अनेक जगह मॉल क्लब बंद कर दिए गए थे,
  • जब हमारे यहां पांच सौ केस थे तभी हमने पूरे देश को लॉकडाउन करने का फैसला कर लिया था, भारत ने समस्या बढ़ने का इंतजार नहीं किया बल्कि उसे रोकने का भरसक प्रयास किया
  • कुछ सच्चाईयों को हम नकार नहीं सकते, वैसे अगर हम बड़े-बडे देशों के मुकाबले में देखें, तो भारत बेहद संभली हुई स्थिति में हैं, आज उन देशों भारत की तुलना में कोरोना के केस, 25 से 30 गुना ज्यादा बढ़ गए हैं, उन देशों में सैकड़ो लोगों की मृत्यु हो गई है.
  • भारत ने उस वक्त अगर कड़े फैसले न लिये होते तो हम न जाने कहां खड़े होते, वैसे बीते दिनों के मुकाबले साफ है, कि हमने जो रास्ता चुना वही हमारे लिए सही है, सोशल डिस्टेंसिंग का बहुत बड़ा लाभ देश को मिला है.
  • अगर आर्थिक दृष्टि से देखें तो यह मंहगा जरूर लगता है, लेकिन भारतियों की जिंदगी के आगे इसकी कोई तुलना नहीं हो सकती, भारत जिस मार्ग पर चला है उस मार्ग की तुलना पूरी दुनिया में हो रही है.
  • साथियों इन सब प्रयासों के बीच कोरोना जिस तरह फैल रहा है उससे विश्वभर में, हेल्थ एक्सपर्ट्स को और ज्यादा सतर्क कर दिया है, भारत में भी कोरोना के खिलाफ लड़ाई अब आगे कैसे बढ़े, हम विजयी कैसे हों, कम से कम नुकसान हो, इस विषय पर राज्यों के साथ निरंतर चर्चाएं की जा रही हैं, हर किसी की तरफ से यही सुझाव आता है, कि लॉकडाउन को बढ़ाया जाए.
  • सारे सुझावों को ध्यान में रखते हुए, तीन मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया गया है.
  • इस दौरान हमें उसी तरह अनुशासन का पालन करना है जिसतरह से हम करते आ रहे हैं, हमें कोशिश करनी है कि किसी भी कीमत पर हमें कोरोना को फैलने नहीं देना है.
  • कहीं पर भी कोरोना से एक भी मरीज की दुखद मृत्यु होती है तो हमारी चिंता और बढ़ जाती है. इसलिये हमें, हॉट्स स्पॉर्टस को इंगित करके, पहले से भी ज्यादा सतर्कता बरतनी होगी, जिन स्थानों के हॉटस्पॉट की आशंका है, वहां हमें कड़े कदम उठाने होंगे.
  • लॉकडाउन में कठोरता और बढ़ाई जाएगी, हर जिले थाने को हर स्तर पर परखा जाएगा, हर क्षेत्र की मॉनिटरिंग होगी, काम का मुल्यांकन किया जाएगा, जो क्षेत्र इस अग्निपरीक्षा में सफल होंगे, जो अपने यहां हॉटस्पॉट नहीं बनने देंगे, वहां पर 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की छूट दी जा सकती है, लेकिन यह अनुमति शसर्त होगी. बाहर निकलने के नियम बहुत सख्त होंगे.
  • न आप खुद कोई लापरवाही बरतें और न किसी और को लापरवाही करने देना है, मेरे देश वासियों कल इस बारे में सरकार की ओर से एक विस्तित गाइड लाइन जारी की जाएगी.
  • मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता में गरीबों की मदद करने का है, इस समय रवि फसल की कटाई का काम भी जारी है, केंद्र और राज्य सरकार मिलकर काम कर रही है कि किसानों को कम से कम परेशानी हो,
  • साथियों देश में मेडिकल को लेकर भी काम किया जा रहा है, भारत में हम एक लाख से ज्यादा बेड की व्यवस्था कर चुके हैं, यही नहीं 600 से ज्यादा अस्पताल सिर्फ कोरोना का इलाज कर रहे हैं.
  • मेरा नौजवान वैज्ञानिक साथियों से हाथ जोड़कर अनुरोध है कि आप आगे आएं, कोरोना की वैक्सिन बनाने के लिए आगे आएं, वैज्ञानिक इसका बीड़ा

प्रधानमंत्री ने इन सात चीजों के लिए देश का साथ मांगा.

  1. अपने घर के बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें, जिन्हें पहले से बीमारी हो उऩका हम एक्ट्रा खयाल रखें.
  1. लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की रेखा का पालन करें, घर में बने हुए फेस मास्क का उपयोग करें
  2.  अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए मंत्रालय के गाइड का पालन करें
  1. कोरोना संक्रमण रोकने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल एप को जरूर डाउन करें
  2. जितना हो सके उतने गरीब परिवार की देखरेख करें, उनके भोजन की कमी न आने पाए
  3. आप अपने व्यवसाय अपने साथ काम करने वाले लोगों के प्रति सहानुभुति रखें, किसी को नौकरी से न निकालें.
  4. देश के कोरोना योद्धाओं हमारे डॉक्टर, नर्स, पुलिस कर्मी, सफाई कर्मियों का गौरव करें

प्रधानमंत्री ने कहा कि इन सात बातों में आपका साथ चाहिये, ये विजय होने का मार्ग है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *