पाकिस्तान ने की सीमा पर फायरिंग, 8 साल के बच्चे समेत तीन की मौत, पूर्व सैनिक जख्मी

श्रीनगर, (FourthEyeNews) दुनिया भले ही फिलहाल कोरोना वायरस से लड़ रही है लेकिन  पाक सेना अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही है । एक बार फिर उत्तरी कश्मीर में उड़ी से केरन तक नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना ने रविवार को भारतीय सैन्य ठिकानों के साथ-साथ रिहायशी क्षेत्रों में भारी गोलाबारी की।

पाकिस्तान की इस गोलीबारी में आठ वर्षीय बालक सहित तीन लोगों की मौत हो गई । इस दौरान पांच मकानों को क्षति पहुंची। जवाबी कार्रवाई में सरहद पार केल इलाके में स्थित पाक सेना के ब्रिगेड मुख्यालय, स्पेशल सिक्योरिटी ग्रुप (एसएसजी) यूनिट मुख्यालय और आतंकियों के दो लांचिग पैड समेत आठ इमारती ढांचों को भारी नुकसान पहुंचा।

कुलगाम में आतंकियों के हमले में एक पूर्व सैनिक गंभीर रूप से जख्मी हो गया है। पाक सेना के एक अधिकारी समेत चार सैन्यकर्मी और कुछ आतंकियों के मारे जाने अथवा घायल होने की सूचना भी है। अलबत्ता, सरहद पार हुए नुकसान की तत्काल अधिकारिक स्तर पर पुष्टि नहीं हुई है। दोपहर को शुरू हुई गोलाबारी देर रात गए तक जारी थी। दोनों तरफ से एक-दूसरे के ठिकानों पर तोपखाने और मोर्टार से गोले दागे जा रहे थे। पूरे उत्तरी कश्मीर में सेना के सभी फील्ड कमांडरों को सचेत कर दिया गया।

सेना ने दोपहर को कुपवाड़ा में एलओसी से सटे चौकीबल, केरन-करनाह सेक्टर में भारतीय ठिकानों पर गोलाबारी करने से पहले जिला बारामुला के अंतर्गत उड़ी सेक्टर में भी संघर्ष विराम का उल्लंघन किया।

उड़ी में पाक सैनिकों ने दोपहर पौने एक बजे हथलंगा व चुरुंडा पर गोले बरसाए। भारतीय सेना ने 15 मिनट तक जवाब नहीं दिया, लेकिन जब गोलाबारी बढ़ने लगी तो भारत की ओर से जवाब दिया जाने लगा। हाजीपीर दर्रे के ऊपरी हिस्से में पाक सेना की लोन हट और लारी कलसी चौकियों को उड़ा दिया। उसके बाद उड़ी सेक्टर में पाक बंदूकें शांत हो गई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *