लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा पॉर्न वीडियो देख रहे हैं भारतीय, दुनिया में टॉप पर पहुंचे

नईदिल्ली,(Fourth Eye News) कोरोना वायरस को लेकर देश के लोग घरों में कैद हैं और उनके पास करने के लिए ज्यादा कुछ नहीं है, कुछ लोग जरूर इंटरनेट की मदद से वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं लेकिन देश की बढ़ी आबादी के पास मनोरंजन का साधन टीवी और मोबाइल ही है. ऐसे में ज्यादातर लोग अपना समय कैसे व्यतीत करते हैं उसको लेकर जो एक आंकड़ा सामने आया है उसे जानकर आप दंग रह जाएंगे.

शायद कभी न मिले कोरोना वायरस की वेक्सीन – साइंटिस्ट जेन हाल्टन

देश में बढ़ी पॉर्न देखने वालों की संख्या

दुनिया की सबसे बड़ी पॉर्न वेबसाइट पॉर्न हब के आंकड़े इस बात की तस्दीक कर रहे हैं. कि पूरी दुनिया का रुझान इस वेबसाइट की तरफ बढ़ा है, लेकिन भारत इस मामले में  पहले नंबर पर पहुंच गया है.

पॉर्न हब के ताजा आंकड़े

आंकड़ों के मुताबिक भारत में मार्च के आखिर में आधिकारिक पाबंदियों के शुरू होने से पहले ही पॉर्न कंटेंट देखने में 20 फीसदी का उछाल आ गया था.  पॉर्न हब के ताजा आंकड़ों के मुताबिक तीन हफ्ते के लॉकडाउन की अवधि में भारत में एडल्ट साइट्स पर जाने वालों का ट्रैफिक 95 फीसदी बढ़ा है. बता दें कि भारत सबसे तेजी से उभरने वाला स्मार्टफोन मार्केट है जिससे लोगों तक पॉर्न कंटेंट पहुंचना आसान हो गया है.

ठीक होने के बाद फिर शरीर में एक्टिव हो सकता है कोरोना वायरस ?

पॉर्नहब के आंकड़े के मुताबिक 17 मार्च को फ्रांस में लॉकडाउन शुरू होने के बाद पॉर्न कंटेंट में 40 फीसदी का तत्काल उछाल आया. ऐसी ही तस्वीर जर्मनी की भी है. वहां 22 मार्च को लॉकडाउन शुरू होने पर एडल्ट साइट्स के ट्रैफिक में 25 फीसदी की बढ़त हो गई.

रूस में आधिकारिक तौर पर लॉकडाउन 30 मार्च से किया गया था जबकि 25 मार्च को ही सभी सिनेमा, नाइट क्लब बंद कर दिए गए थे. इसके बाद रूस में एडल्ट साइट्स वेब ट्रैफिक 56 फीसदी तक बढ़ गया.

पॉर्न देखने के मामले में इटली भी अन्य देशों के मुकाबले पीछे नहीं है. यहां 9 मार्च को लॉकडाउन शुरू हुआ था और इस दौरान वहां एडल्ट कंटेंट की खपत में 55 फीसदी का उछाल आया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *