कोरोना को परास्त करने में प्रशासन को सहयोग करें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की प्रदेशवासियों से अपील

भोपाल.(Fourth Eye News) मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि कोरोना संक्रमण के दौरान प्रभावशील टोटल लॉकडाउन में घर से ना निकलें और प्रशासन को सहयोग करें। चौहान ने कहा है कि हम सब मिलकर कोरोना से जंग लड़ रहे हैं। हमारे कोरोना योद्धा जान हथेली पर रखकर आपकी सेवा में जुटे हुए हैं। चौहान ने कहा कि पूरे मध्यप्रदेश में हमने कुछ शहरों को सील किया है तथा जहाँ कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए थे, उन हॉटस्पॉट क्षेत्रों को सील करने का कार्य किया है।

इंदौर, भोपाल, उज्जैन छोड़कर 15 जिलों में 46 कोरोना हॉट स्पॉट घोषित

आज कष्ट सह लेंगे, तो कल कोरोना को परास्त कर बाहर निकलेंगे

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि मैं जानता हूं कई जरूरी चीजों की कमी के कारण आपको परेशानी हो सकती है। प्रशासन आवश्यक चीजों को आप तक पहुंचाने का पूरा प्रयास कर रहा है। फिर भी आपको कष्ट तो हो ही रहा है। इस कष्ट के लिए मैं आपसे माफी मांगता हूं। चौहान ने कहा कि आज अगर हम कष्ट सह लेंगे, तो कल कोरोना की इस बीमारी को परास्त कर बाहर निकलेंगे, तब मैं आपको मना लूंगा परंतु यदि बाहर निकलेंगे तो हो सकता है माफी मांगने व माफ करने के लिए रहे ही नहीं।

कोरोना के लक्षण हैं, तो संकोच ना करें, तत्काल बताएं

मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों से अपेक्षा की है कि आपमें से किसी को भी यदि कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं, तो संकोच न करें, तत्काल बताएं। हेल्पलाइन 104 अथवा 181 पर तत्काल सूचना दें। उन्होने कहा कि कोरोना महामारी ऐसी नहीं है कि लक्षण है, तो मौत हो ही जाएगी। मौत केवल ऐसे प्रकरणों में ही होती है, जहां बताने में देर हो जाती है।

भोपाल और इंदौर की सीमाओं को कड़ाई से सील करें : मुख्यमंत्री चौहान

कईयों के स्वास्थ में हो रहा तेजी से सुधार

चौहान ने कहा कि अपने प्रदेश में बहुत से लोग स्वस्थ होकर घर वापस जा चुके हैं। कईयों के स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि तबीयत ज्यादा खराब होने के बाद यदि मरीज आते हैं, तो ठीक होने की संभावना कम होती है। अतः लक्षण छुपाए नहीं बल्कि तुरंत बताएं। छुपाना महापाप है क्योंकि आप अपनी जिंदगी से खेल रहे हैं तथा अपने साथ-साथ दूसरों की जिंदगी भी खतरे में डाल रहे हैं।

व्यवस्थाओं मे नहीं छोड़ेंगे कोई कसर

मुख्यमंत्री चौहान ने अपील में बताया है कि प्रदेश में कोरोना के संकट से निपटने के प्रभावी प्रयास लगातार सरकार कर रही है। जब मैं मुख्यमंत्री बना, तब कोरोना टेस्टिंग की व्यवस्था ही नहीं थी। एक लैब था और केवल 60 टेस्टिंग होती थी। अब 1000 से ज्यादा टेस्टिंग प्रतिदिन हो रही हैं। मास्क आदि की भी पूरी व्यवस्था है। डेडिकेटेड अस्पताल हैं। चौहान ने कहा कि हम व्यवस्थाओं में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

हम लड़ेंगे और जीतेंगे

मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेशवासियों से कहा है कि घर से बाहर निकलना अति-आवश्यक होने पर आप बिना मास्क लगाए घर से ना निकलें। मास्क लगाना प्रदेश में अनिवार्य कर दिया गया है। लॉक डाउन का पूरा पालन करें, जिससे आप, आपका परिवार, प्रदेश और देश सुरक्षित रहे। मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों का अभी तक दिये गये सहयोग के लिये धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आश्वश्त किया है कि हम लड़ेंगे और जीतेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *