कोरोना से बचाव की लड़ाई में ग्रामीण महिलाओं का योगदान

भोपाल.(Fourth Eye News) कोरोना से बचाव और सुरक्षा के कार्य में जहां अधिकारी-कर्मचारी, स्वास्थ्य विभाग का अमला, पुलिसकर्मी, जन-प्रतिनिधि, स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि समर्पित भाव से जुटे हुए है, वही इस लड़ाई में नीमच जिले के ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएँ भी अपना योगदान दे रही है।

नीमच जिले में एनआरएलएम द्वारा गठित 71 महिला स्व-सहायता समूहों की महिलाएं मॉस्क निर्माण कर जरुरतमंदों को वितरित कर रही हैं। इन महिलाओं द्वारा तैयार अब तक करीब 74 हजार 180 मॉस्क वितरित किए जा चुके हैं। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के मैदानी अमले द्वारा ग्रामीणों को नि:शुल्क मॉस्क वितरण गाँव-गाँव में किया जा रहा है।

स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा तैयार किए गए कपड़े के तीन लेयर वाले ये मॉस्क विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी को दिये गये हैं। कुल 95 हजार 145 मॉस्क की मांग विभिन्न विभागों द्वारा की गई, जिसके विरुद्ध अब तक 74 हजार 78 मॉस्क विभागों को उपलब्ध करा दिए गये हैं। चार हजार मॉस्क स्टाक में उपलब्ध है। मॉस्क आपूर्ति की मांग निरंतर विभिन्न विभागों द्वारा की जा रही है। एनआरएलएम द्वारा 71 महिला स्व-सहायता समूह की तीन बैच बनाकर, मॉस्क निर्माण का प्रशिक्षण दिलाया गया और उन्हें कपड़ा उपलब्ध करवाया गया, जिससे महिलाएं मॉस्क का निर्माण कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *