लॉकडाउन: ट्रेन यात्रा के लिए इन नियमों का करना होगा पालन

नईदिल्ली (FourthEyeNews) लॉकडाउन के बाद  रेलवे मंत्रालय ने 15 अप्रैल से संभावित ट्रेन परिचालन के मद्दनेजर कोरोना वायरस संबंधी प्रोटोकॉल तैयार कर लिए हैं । इस प्रोटोकॉल के तहत रेल यात्री के लिए कुछ दिशा निर्देश दिए जाएंगे, जिसके बाद ही वो ट्रेन में यात्रा कर सकेंगे.

4 घंटे पहले आना होगा स्टेशन

इस प्रोटोकॉल के तहत रेल यात्री को एयरपोर्ट की तर्ज पर ट्रेन छूटने 4 घंटे पहले स्टेशन आना होगा । इससे स्टेशन पर यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग की जा सके। जबकि स्टेशन पर केवल आरक्षित टिकट वाले यात्री को प्रवेश करने की अनुमति होगी। इस दौरान प्लेटफार्म टिकट नहीं बिक्री नहीं होगी।

ये खबर भी पढ़ें – 15 से 20 अप्रैल की प्रमुख ट्रेनों में एसी और स्लीपर सीटें फुल

नॉनएसी ट्रेन चलेंगी

रेलवे दस्तवेजो के अनुसार, रेलवे सिर्फ नॉन एसी ट्रेन (स्लीपर श्रेणी) ट्रेन चलाएगा। ट्रेनों में एसी श्रेणी कोच नहीं होंगे। यात्रा से 12 घंटे पहले यात्री को अपनी सेहत की जानकारी रेलवे को देना अनिवार्य होगा। कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाने पर रेल यात्री को बीच सफर में ट्रेन से जबरदस्ती उतार दिया जाएगा । यात्री को 100 फीसदी रिफंड वापस दिया जाएगा। रेलवे वरिष्ठ नागरिकों सफर नहीं करने का सुझाव भी देगी।

सर्दी खांसी हुई तो बीच रास्ते में उतार दिया जाएगा

कोच में यात्री कोई यात्री खांसी, जुकाम, बुखार आदि जैसे कोरोना वायरस जैसे लक्षण पाए जाते हैं तो टीटीई व अन्य रनिंग स्टाफ ऐसी यात्री को बीच रास्ते में ट्रेन रुकवा कर नीचे उतार दिया जाएगा। ट्रेन के सभी चारो दरवाजे बंद रहेंगे । जिससे गैर जरुरी व्यक्ति का प्रवेश नहीं हो सकेगा । ट्रेन पूरी तरह से नॉन एसी होगी और नॉन स्टाप (एक स्टेशन व दूसरे स्टेशन) चलेगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *