जिले में बाहर से आने वाले हर व्यक्ति को रखा जायेगा क्वारेंटाइन में

जबलपुर.Fourth Eye News) कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर बरती जा रही सतर्कता के तहत जिला प्रशासन ने और कड़े कदम उठाते हुए अब बाहर से जिले में प्रवेश करने वाले हर व्यक्ति को क्वारेंटाइन में रखने का निर्णय लिया है।
कलेक्टर भरत यादव ने यह जानकारी देते हुए बताया कि जिले में ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में प्रदेश के अन्य जिले या देश के बड़े शहरों में आने की सूचना प्रापत हो रही है। ऐसे लोगों की जिले की प्रवेश सीमा पर स्वास्थ्य की जाँच भी की जा रही है।
उन्होंने बताया कि जाँच में स्वस्थ पाये जाने पर भी बाहर से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को कम से कम चौदह दिनों के लिए या तो होम क्वारेंटाइन में रखा जायेगा अथवा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, छात्रावास, आश्रय या स्कूल भवनों में क्वारेंटाइन में रखा जायेगा।

कलेक्टर ने बताया कि जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉकडाउन के तहत सख्ती को और बढ़ाया जायेगा।  उन्होंने कहा कि बाहर से बड़ी संख्या में वापस आ रहे लोगों को देखते हुए शहरी क्षेत्र के साथ-साथ अब ग्रामीण क्षेत्र एवं अन्य नगरीय निकाय क्षेत्र पर ज्यादा फोकस किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में बढ़ रहे मूवमेंट को देखते हुए अब और ज्यादा अलर्ट रहने की जरूरत है। श्री यादव ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाली हर सूचनाओं पर खास नजर रखी जा रही है। उन्होंने बाहर से आने वाले हर व्यक्ति को अपने आने की सूचना स्थानीय प्रशासन को देने का आग्रह किया है। यदि वे इसकी सूचना नहीं देते हैं अथवा छुपाते हैं तो इनके विरूद्ध एफआईआर तक दर्ज कराई जा सकती है।

कलेक्टर ने कहा कि बाहर से आने वालों को डरने की जरूरत नहीं है बस उन्हें केवल अपने यहां आने की सूचना देना होगी ताकि उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जा सके तथा उसके और उसके परिवार के सदस्य के स्वास्थ्य की रक्षा की जा सके।
श्री यादव ने बताया कि जिले से बाहर जाने की अनुमति भी अब केवल उन्हें ही दी जा रही है जिनका कोई सगे संबंधी की मृत्यु हो गई है अथवा मेडिकल इमरजेंसी का कोई केस है।

यादव ने कहा कि जिले की प्रवेश सीमा पर स्थापित चेक पोस्ट पर भी अब सख्ती बढ़ाई जा रही है। श्री यादव ने सभी अनुविभागीय दंडाधिकारियों एवं कार्यपालिक मजिस्ट्रेटों को बाहर से आने वाले हर व्यक्ति का डेटा एकीकृत कोरोना कंट्रोल रूम को भेजने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने ऐसे व्यक्तियों को क्वारेंटाइन में रखने के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में सोशल डिस्टेंसिंग का भी कड़ाई से पालन कराने की हिदायत दी है।

कलेक्टर ने सभी नागरिकों से ज्यादा सतर्कता बरतने की अपील की है। उन्होंने कहा कि अभी खतरा टला नहीं है बल्कि ग्रामीण क्षेत्र में बढ़ रहे मूवमेंट को देखते हुए खतरा और बढ़ गया है। इसलिए नागरिकों को भी प्रतिबंधों का और कड़ाई से पालन करना होगा। किसी भी तरह की ढील नहीं बरतनी होगी।  श्री यादव ने लोगों को घरों में ही रहने की अपील भी की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *