दिल्ली में कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर अब नहीं जाएंगे घर

नईदिल्ली, (Fourth Eye News)  दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर अब घर नहीं जाएंगे, बल्कि दिल्ली सरकार उनके ठहरने का इंतजाम होटल में कर रही है. अब डॉक्टर और नर्स इलाज के बाद घर के बजाए होटल में ठहरेंगे, ताकि उनके परिवारों में संक्रमण का कोई खतरा न हो।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने इस बाबत आदेश जारी किया है। सरकार इलाज कर रहे डॉक्टरों को बारी-बारी से 14-14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में भी भेजेगी।  स्वास्थ्य मंत्री ने यह आदेश फिलहाल लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल (एलएनजेपी) और जीपी पंत अस्पताल में तैनात डॉक्टरों के लिए जारी किया है। मध्य जिले के डीएम को इनके लिए कनॉट प्लेस स्थित पांच सितारा ललित होटल में 100 कमरे बुक करने का आदेश दिया गया है। ड्यूटी के बाद ये डॉक्टर इसी होटल में ठहरेंगे। इसका सारा खर्च दिलली सरकार उठाएगी।

सरकार का कहना है कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में सबसे आगे डॉक्टर खड़े हैं। उनकी और उनके परिवार की सुरक्षा सरकार की जिम्मेदारी है, इसलिए इन दो अस्पतालों में जहां कोरोना से पीड़ति मरीजों का इलाज चल रहा है, वहां तैनात डॉक्टर घर की बजाए इस होटल में रहेंगे, ताकि उनके परिवार में संक्रमण फैलने का खतरा ना हो।

दिल्ली की स्वास्थ्य सचिव पद्मिनी सिंगला ने निर्देश जारी करते हुए कहा कि अगले 14 दिनों तक कोरोना वायरस से जुड़े मरीजों की देखभाल कर रहे डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ सुबह 8 से शाम 6 बजे तक और शाम 6 बजे से सुबह 8 बजे तक दो शिफ्ट में काम करेंगे। सुबह की शिफ्ट 10 घंटे की होगी, जबकि शाम की शिफ्ट 14 घंटे की होगी। 14 दिन के काम करने के बाद इन्हें 14 दिनों का आराम दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *