FIR दर्ज होने पर बोले बिलासपुर विधायक ‘आहत हूं समझ नहीं आ रहा इसका प्रयोजक कौन है ?’

बिलासपुर: (Fourth Eye News), हाल ही में बिलासपुर से कांग्रेस के विधायक शेलेष पांडे के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. जिसके बाद बाद उन्होने अपनी फेसबुक वॉल पर कई सवाल उठाए हैं, “साथ ही उन्होने कहा कि मेरी समझ नहीं आ रहा है कि इस FIR का प्रयोजक कौन है”

 ये खबर भी पढ़ें – बिलासपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर बिलासपुर स्टेशन में फंसे झारखंड के 139 मजदूरों को उनके प्रांतों के लिए सकुशल रवाना किया गया

विधायक शैलेष पांडे  ने लिखा है – :

*अपील*

प्रिय साथियों,
मुझे आपके माध्यम से पता चला है कि, मेरे विरुद्ध अपराध दर्ज किया गया है। मुझे दी गई जानकारी के अनुसार मुझ पर आरोप है कि मैं अपने निवास में भीड़ को आमंत्रित कर कोरोना के प्राणघातक संक्रमण को बढ़ा रहा था, मैंने धारा 144 का उल्लंघन किया है। मैं इस पटकथा से चकित हूँ और आपके सामने तथ्य रख रहा हूँ –
*यह बिलकुल सही है कि हम लगातार नागरिकों तक अनाज दवा पहुँचाने की व्यवस्था कर रहे हैं। मुझे जहां से सूचना मिल रही है, मैं वहाँ पहुँच रहा हूँ जो ज़ाहिर है मेरा दायित्व है। लोगों को भोजन मिले इसकी व्यवस्था भी है जिसमें निश्चित तौर पर मेरी सहभागिता है। यह सब करते हुए मैं और मेरे सभी साथी सुरक्षा मान्य निर्देशों का पालन करते हैं और नागरिकों से भी करने का आग्रह करते हैं।*
*बीते सात दिनों से कोई क्षण ऐसा नहीं है कि मैंने अपने दायित्व से एक क्षण मुख मोड़ा हो। यह समस्या सरकार की बस नहीं है, हर व्यक्ति हर नागरिक को साझा होकर लड़ना है। नागरिकों को दवा मिले, अनाज मिले भोजन मिले इसकी व्यवस्था करना और यह सुचारु रुप से होती रहे यह मेरा दायित्व है।*
मैं आभारी हूँ अपने साथियों का,व्यवसायिक संस्थानों का जिनके पास मैं गया और उन्होंने मुक्त हाथों मेरी मदद की, इन्हीं की मदद से मैं सारी व्यवस्था उपलब्ध करा पा रहा हूँ।
आज जबकि मैं कार्यालय पहुँचा तो भीड़ बेहद ज़्यादा थी, *मैने एडिशनल एसपी को फ़ोन किया और उन्हें आकर व्यवस्था देने का आग्रह किया। वे आए और उन्हीं की गाड़ी से मैंने नागरिकों से आग्रह किया कि, वे घर जाएँ, उन तक अनाज और दवा पहुँचेंगी, बिलकुल वैसे ही जैसे कि पहुँच रही हैं।*
*मेरे लिए यह चकित करने वाला विषय है कि, आज अचानक यह भीड़ कैसे आई।*
मैं केवल अपने निहित दायित्वों का निर्वहन कर रहा हूँ, मुझे नहीं लगता कि *मैंने अपने नागरिकों की सेवा की तो कोई अपराध किया है* मैं फिर दोहराता हूँ *हमने किसी भी सुरक्षा मानकों का कोई उल्लंघन नहीं किया बल्कि सभी को लगातार सतर्क भी करते रहे हैं।*
मैं आहत हूँ.. *मुझे समझ नहीं आ रहा है कि यह प्रायोजित कार्यक्रम (FIR) का प्रायोजक कौन है..* मैं इस मसले पर न्यायालय की शरण लूँगा.. साथ ही विशेषाधिकार हनन के तहत कार्यवाही की माँग करते हुए *विधि द्वारा जो संरक्षण हर नागरिक की तरह जो मुझे भी मिला है, मैं इसका उपयोग करुंगा*
पुनश्च – *सतर्कता के सावधानी के मान्य नियमों का पूर्व की तरह पालन करते हुए मैं अपने नागरिकों के प्रति जवाबदेह हूँ और उसे निभाते रहूंगा*

शैलेश पाण्डेय
विधायक बिलासपुर

सबकी दुआओं से और ईश्वर के आशीर्वाद से कोई भूखा ना सोये। ये संकट जल्द ही टल जाए🙏

Posted by Shailesh Pandey I on Saturday, March 28, 2020

दरअसल शैलेष पांडे ने कुछ दिन पहले ही जनता को फ्री राशन बांटा था इसके बाद उनके घर के बाहर काफी भीड़ एकत्रित हो गई थी. जबकि प्रदेश सहित पूरे देश में लॉकडाउन है, लिहाजा पुलिस ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *