कोरबा: मास्क व सेनेटाइजर की हो रही कालाबाजारी

कोरबा, (Fourth Eye News) कोरोना के बढ़ते कदम विश्वव्यापी समस्या बन चुकी है, जो अब मानव के मानवता पर आक्रमण कर रहा। संकट की इस घड़ी में भी कुछ लोग कोरोबार में मुनाफे का मौका ढूंढ़ रहे। एक ओर ज्यादातर मेडिकल स्टोर में मास्क खत्म हो गए पर जहां उपलब्ध हैं, वहां भी चार से पांच गुना महंगा कर 25 रुपये का मास्क 100 रुपये में बिक रहा। संचालक कह रहे कि ऑनलाइन सर्च करें तो अच्छे मास्क 300 से 400 रुपये तक बिक रहे।

अभी है, ले लो नहीं तो ये भी खत्म हो जाएंगे। जैलगांव, जमनीपाली, दर्री, निहारिका व कोरबा क्षेत्र में संचालित दवा दुकानों से जानकारी ली गई। ज्यादातर जगह स्टॉक खत्म हो चुका है और तीन से चार दिन बाद उपलब्ध होने की बात कही जा रही। पर एक बात सभी जगह कॉमन थी कि हर मेडिकल स्टोर में मास्क की कीमतें तीन से पांच गुना तक महंगी बताई गई। दर्री से जैलगांव चौक के बीच एनटीपीसी टाउनशिप के करीब मोहन टाकीज रोड में संचालित ड्रग डील एकमात्र दवा दुकान है, जहां शुक्रवार को भी मास्क उपलब्ध था।

जब दवा संचालक से पूछा गया कि यह मास्क कितने की है, तो जवाब मिला 100 रुपये का। पुन: पूछने पर कि ये मास्क तो 25 रुपये में मिलती है, तो संचालक ने कहा कि 300 से 400 रुपये में भी बिके हैं। मौजूदा परिस्थतियों पर गौर करें तो मास्क की जरूरत लोगों की जिंदगी से जुड़ गई है और शासन ने इसे जून तक के लिए अति आवश्यक वस्तु घोषित कर रखा है। बावजूद इसके ऐसे कारोबारी इस विपरीत घड़ी को अपने लिए सुनहरा अवसर बनाने से भी नहीं चूक रहे हैं। शासन-प्रशासन को चाहिए कि इस तरह के कारोबार पर सख्ती से रोक लगाते हुए ऐसे कारोबारियों पर सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

दवा दुकान संचालकों ने यह भी कहा कि नया स्टॉक आने के बाद ही मास्क व सैनिटाइजर की नई कीमतों का पता चल सकेगा। वर्तमान में कहीं 40, कहीं 60, कहीं 100 तो कहीं 150 रुपये तक मास्क बिके हैं। अब जो मास्क आएंगे, उनकी नई कीमतों का पता भी उनकी सप्लाई होने के बाद ही मिल सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *